न्यूनतम उम्र सीमा 55 वर्ष या 33 वर्ष बड़ी खुलासा


न्यूनतम उम्र सीमा 55 वर्ष या 33 वर्ष बड़ी खुलासा

आप सभी को बता दूं कि कुछ  महीने पहले सरकार ने घोषणा जारी किया था जिसके तहत सभी केंद्र कर्मचारियों के न्यूनतम उम्र सीमा 55 वर्ष या 33 वर्ष की सर्विस होना घोषित किया गया था.
 इस नियम के तहत देश के तमाम केंद्र कर्मचारी जिसका सर्विस काल 33 वर्ष या उम्र 55 वर्ष हो चुका है उसके लिए एक जांच का प्रावधान किया गया था. जिसके तहत यह देखा जाना था कि 55 वर्ष उम्र या 33 वर्ष की सर्विस के बाद उस कर्मचारी का कार्य करने की क्षमता, मेडिकल फिटनेस उसके द्वारा किए गए पिछले वर्षों का कार्यकारी रिव्यू किया जाना था .
 इसके अंतर्गत जो भी कर्मचारी अनफिट पाए जाने पर उनका रिटायरमेंट सरकार द्वारा सुनिश्चित कर दिया जाने वाला था यह प्रक्रिया चल ही रही थी और इसका अंतिम रिव्यू डेट 1 जुलाई 2020 रखी गई थी.
इस नए नियम के तहत लगभग तमाम केंद्रीय कर्मचारियों पर एक तनाव का बादल मर्दाना मर्दाना मर्दाना शुरू हो चुका था. सभी कर्मचारी तनाव में आ चुके थे उन्हें लगने लगा था कि उनकी नौकरी अब नहीं बच पाएगी.  लेकिन हाल-फिलहाल में कुछ जानकारियां यह आने लगी है कि अब 33 वर्ष और 55 वर्ष के यह नियम को ठंडे बस्ते में डाल दिया गया है,
लगता है कि अब केंद्र कर्मचारियों के चिंता का बादल दूर होने वाला ही है क्योंकि सरकार ने जो 3355 का नियम निकाला था वह फिलहाल ठंडे बस्ते में डाल दिया गया है क्योंकि केंद्रीय कार्मिक राज्य मंत्री जितेंद्र सिंह ने हाल ही में संसद ने बताया कि केंद्रीय कर्मचारियों की उम्र सीमा को घटाने की कोई योजना नहीं है और ना ही इस नियम के तहत किसी प्रकार की कार्यवाही का प्रस्ताव लाया गया है.
हालांकि इस कानून के तहत कई जॉन रेलवे जोन में इसका नोटिस भेजा गया था और 33 वर्ष की सर्विस या 55 वर्ष उम्र वाले कर्मचारियों की सर्विस रिकॉर्ड का रिव्यू मांगा गया था और इसी के तहत कई खबरें सरकारी कर्मचारियों के कानों तक पहुंच रहे थे और वह काफी चिंता ग्रस्त थे लेकिन केंद्रीय कार्मिक राज्य मंत्री जितेंद्र सिंह के बयान के बाद अब लगने लगा है कि केंद्र कर्मचारियों का जबरन सेवानिवृत्त करने का यह कानून ठंडे बस्ते में पढ़ चुके हैं.
केंद्रीय कार्मिक राज्य मंत्री जितेंद्र सिंह के बयान से यह साफ हो चुका है कि फिलहाल सरकार का ऐसी कोई मंशा नहीं है कि वह केंद्र कर्मचारियों की उम्र सीमा को कम करें.
हालांकि 33 वर्ष सर्विस या 55 वर्ष उम्र वाले सभी केंद्र कर्मचारियों की सर्विस बुक का रिव्यू होना तय है लेकिन उन्हें जबरन नौकरी से निकालने का सरकार का कोई मंशा नहीं है.
नोट- यह आर्टिकल सूत्रों एवं न्यूज़ पेपर में छापे गए समाचार पर आधारित है
इस तरह की जानकारी कई न्यूज़ पेपरों ने अपने फ्रंट पेज में दिया है जिसमें यह साफ-साफ कहा गया है कि सरकार किसी भी केंद्र कर्मचारियों के रिटायरमेंट उम्र को कम करने की नियम या कानून नहीं ला रहा है ।
 
 

Leave a comment